मोहित

मोहित

 इंजीनियरिंग एवं मेडिकल में प्रवेश और फिर से दलाली का धंधा शुरू होने का समय आ गया है।
पुनः इंटर की परीक्षा पास छात्रों के सपने को बेचोगे।
उनको इंजीनियरिंग के सपने दिखाओगे।
जिस छात्र को अपने गांव का नाम अंग्रेज़ी में लिखना न आता हो उसे mnc में खयाली नौकरी का वादा करोगे।
फिर कोई पिता अपने उस पुत्र के लिए अपना खेत बेचेगा जो पुत्र इंजीनियरिंग के लायक ही नही।
स्कॉलरशिप का लालच दोगे लेकिन दलाली करोगे।

आखिर कब तक यह गन्दगी और रहेगी। कब तक विश्व विद्यालय इस पर कोई कार्यवाही नही करेगा।

एक लगाम एक पैरवी होनी चाहिए।

सभी छात्रों से निवेदन है कि बिना खुद की क्षमताओं को पहचाने चका चौंध का शिकार न बने।
आप वो करे जो आपकी क्षमताओं में हो या प्रयास करने पर आप उसे पूरा कर सके।
सपनो के दलालों से सावधान रहें।